इंजीनियर कैसे बने, और इंजीनियरिंग करने के लिए कौन सा कोर्स करें, how to become an engineer

Hwo to become an engineer, engineer in hindi, इंजिनियर कैसे बने।

आज के टाइम में हर बच्चा कुछ बड़ा करने की सोचता है अगर आप स्कूल लाइफ में है तो आपके मन में भी यही चल रहा होगा कि आपको बड़ा होकर क्या बनना चाहिए,

हो सकता है आपने पहले से ही फैसला कर लिया हो कि आपको क्या बनना है, आप किसी भी क्षेत्र के अंदर अपना भविष्य बना सकते हैं अगर आजकल के बच्चों से पूछा जाए कि बड़े होकर क्या करेंगे तो उनका एक ही जवाब होता है कि उनको इंजीनियर बननाहै,

और आज के टाइम में आपको हर दूसरे घर में एक इंजीनियर जरूर देखने को मिलेगा क्योंकि आज के टाइम में इंजीनियरिंग एक बहुत ही प्रचलित कोर्स हो गया है आज की बदलती टेक्नोलॉजी में engineering की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका है

अक्सर आजकल के जो बच्चे हैं उनका इंजीनियर बनने का सपना होता है वह school के दिनों से ही अपनी इंजीनियरिंग की तैयारी शुरू कर देते हैं।

अगर बात करें इंजीनियरिंग की तो इंजीनियरिंग की शुरुआत स्कूल से ही हो जाती है वह इसलिए जिस छात्र को इंजीनियरिंग करनी होती है वह 11th क्लास में साइंस स्ट्रीम लेता है

साइंस स्ट्रीम मतलब आपको कुछ महत्वपूर्ण subjects का चुनाव करना पड़ता है जिसमें भौतिक विज्ञान, गणित और रसायन विज्ञान पढ़ना होता है और 12वीं के अंदर भी इन्हीं विषयों को पढ़ाया जाता है और उसके बाद आप किसी भी इंजीनियरिंग कॉलेज में दाखिला ले सकते हैं

हम आपको इसी के बारे में जानकारी देने वाले हैं कि इंजीनियर क्या होता है, इंजीनियरिंग करने के लिए कोर्स कौन सा किया जाता है, और इंजीनियरिंग के प्रकार कितने होते है, और एक सफल इंजीनियर कैसे बने, आज इस सब के बारे में हम आपको जानकारी देने वाले हैं,

 

Table of Contents

इंजीनियरिंग क्या है। (How to become an engineer)

Engineering in Hindi- सबसे पहले हम जान लेते हैं कि इंजीनियरिंग क्या होती है, इंजीनियरिंग करने के लिए हमको B-Tech स्नातक में दाखिला लेना पड़ता है  यह सामान्य 4 साल का कोर्स होता है इस कोर्स के अंदर बहुत सारी ब्रांच होती हैं जैसे-

1. मैकेनिकल इंजीनियरिंग

2. इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग

3. सिविल इंजीनियरिंग

4. कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग

जो हमने आपको ब्रांच बताई है यह B-tech Course के अंदर आती हैं वैसे तो बीटेक कोर्स के अंदर बहुत तरह की इंजीनियरिंग आती है लेकिन हमने आपको उन इंजीनियरिंग के बारे में बताया है जिनको छात्र सबसे ज्यादा करना पसंद करते हैं यह बहुत प्रचलित इंजीनियरिंग है। अपनी-अपनी ब्रांच के हिसाब से सभी इंजीनियरिंग में अलग-अलग तरह की जानकारी दी जाती है

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में मशीनों के बारे में बताया जाता है।
सिविल इंजीनियरिंग में कंस्ट्रक्शन से संबंधित जानकारी दी जाती है।
इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंंग इलेक्ट्रॉनिक के बारे में बताया जाता है।
कंप्यूटर इंजीनियरिंग में कंप्यूटर से संबंधित और सॉफ्टवेयर बनाने से संबंधित सजानकारियां दी जाती हैं।

इंजीनियरिंग का कोर्स सामान्य 4 साल का होता है अगर आपके पास कोई डिप्लोमा है तो आपके इंजीनियरिंग कोर्स के अवधि 1 साल कम हो जाती है फिर आपकी इंजीनियरिंग 3 साल में कंप्लीट हो जाती है।

 

इंजीनियरिंग के प्रकार। (Types of Engineering)

वैसे तो इंजीनियरिंग के बहुत से प्रकार होते हैं लेकिन हम आपको उन्हीं के बारे में बताएंगे जो जो सबसे ज्यादा प्रचलित है। जिनको सबसे ज्यादा छात्र करते हैं तो आइए जानते हैं वह कौन-कौन सी इंजीनियरिंग है।

 

मैकेनिकल इंजीनियरिंग। (Mechanical engineering)

मैकेनिकल इंजीनियरिंग वह होती है जिसमें टेक्नोलॉजी का यूज होता है जिन लोगों को मशीनों से प्यार होता है उनके लिए मैकेनिकल इंजीनियरिंग वन ऑफ द बेस्ट ऑप्शन है

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में आपको मशीनों से संबंधित सभी जानकारियां दी जाती हैं और छोटे से छोटे पार्ट को विस्तार से समझाया जाता है और प्रैक्टिकली भी आपको मशीनों के बारे में जानकारी दी जाती है मैकेनिकल इंजीनियरिंग मशीन से प्यार करने वाले छात्रों के लिए एकमात्र ऑप्शन है।

 

कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग। (Computer science engineering)

आपको इसके नाम से ही पता चल गया होगा कि हम किसके बारे में बात करने वाले हैं हम बात कर रहे हैं कंप्यूटर इंजीनियरिंग की, कंप्यूटर इंजीनियरिंग वह होती है जिसमें कंप्यूटर से संबंधित सभी जानकारियां दी जाती हैं जिन छात्रों को कंप्यूटर यह सॉफ्टवेयर बनाने में या कंप्यूटर से संबंधित जानकारी हासिल करने में रूचि होती है

वह कंप्यूटर इंजीनियरिंग करते हैं आज के टाइम में कंप्यूटर से ज्यादातर काम किए जाते हैं कंप्यूटर एक ऐसी चीज है जो बड़ी-बड़ी कंपनियों को संभालता है अतः आप कंप्यूटर इंजीनियरिंग करना चाहते हैं तो यह आपके लिए बेस्ट ऑप्शन होगा।

 

इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग। (Electrical engineering)

अब बात करते हैं इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग क्या होता है, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में वह सब कुछ आता है जो इलेक्ट्रिकल से संबंधित होता है जिन छात्रों को बिजली के कार्य करने में या इलेक्ट्रिकल में रूचि होती है

वो छात्र इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग करते हैं इसमें छात्रों को विद्युत यानी कि इलेक्ट्रिकल से संबंधित सभी जानकारियां दी जाती है इसमें वह सब बताया जाता है कि किस तरह से बिजली बनती है और कैसे कैसे फ्यूज लगाए जाते हैं

किसी ट्रांसफार्मर को बनाने में क्या क्या यूज होता है किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में लगने वाले पार्ट क्या क्या होते हैं और वह किस तरह से काम करते हैं, और भी बहुत कुछ ऐसा है जो इस इंजीनियरिंग में आता है अतः आप इलेक्ट्रॉनिक में रुचि रखते हैं तो आप इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग का ऑप्शन चुन सकते हैं।

 

सिविल इंजीनियरिंग। (Civil engineering)

यह वह इंजीनियरिंग होती है जिसने कंस्ट्रक्शन के काम को महत्व दिया जाता है सिविल इंजीनियरिंग सरकार के अंतर्गत काम करता है सिविल इंजीनियरिंग में- रोड निर्माण, स्कूल निर्माण, अस्पताल, पुल, और बहुत से ऐसे कंस्ट्रक्शन आते हैं जिनको एक सिविल इंजीनियर हैंडल करता है

सिविल इंजीनियर को किसी भी प्रोजेक्ट को बनाने से लेकर उसके खत्म होने तक सभी जिम्मेदारी सिविल इंजीनियर को दी जाती है सिविल इंजीनियर किसी भी बनने वाली इमारत में लगने वाला मटेरियल और उस इमारत को बनाने का नक्शा पास करता है यह मान लो किसी भी कंस्ट्रक्शन का सारा दायित्व एक सिविल इंजीनियर पर होता है

सिविल इंजीनियरिंग मे गवर्नमेंट सेक्टर में जोब मिलने की बहुत संभावनाएं होती हैं। अतः आप सिविल इंजीनियरिंग करने में रुचि रखते हैं तो आप यह कर सकते हैं।

हमने जो इंजिनियरिंग आपको बताई है यह सबसे ज्यादा की जाने वाली इंजीनियरिंग है अतः आप इनमें से कोई इंजीनियरिंग करना चाहते हैं तो आप कर सकते हैं

इसके अलावा भी बहुत तरह की इंजीनियरिंग होती है जो कुछ इस प्रकार हैं।

 

पैट्रोलियम इंजीनियरिंग। (Petroleum engineering)

पेट्रोल इंजीनियरिंग एक कोर्स है इसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं जो लोग यह इंजीनियरिंग करना चाहते हैं उनको ड्रिलिंग वह वैज्ञानिक डेटा विश्लेषण में ट्रेनिंग दी जाती है

इस इंजीनियरिंग में जमीन यानी कि भूमि के अंदर से पेट्रोल निकालकर टैंक में कैसे भरा जाता है और इसका सारा प्रोसेस क्या होता है इस सब के बारे में छात्र को ट्रेनिंग दी जाती है अगर कोई सबसे हटके कुछ करना चाहता है इंजीनियरिंग के अंदर तो वह पेट्रोलियम इंजीनियरिंग भी कर सकता है।

 

महासागर इंजीनियरिंग। (mahasagar engineering)

इस इंजीनियरिंग में महासागर से संबंधित जानकारियां दी जाती है जिसको एशियन इंजीनियरिंग भी कहते हैं जिन लोगों को समुंद्र से प्यार होता है वह लोग इस फील्ड में आते हैं

कुछ लोगों का नेवी में जाना सपना होता है अगर किसी कारण वश वो नेवी में नहीं जा पाते तो, महासागर इंजीनियरिंग उनके लिए वन ऑफ द बेस्ट ऑप्शन है जिसके जरिए वे लोग महासागर से जुड़ सकते हैं यह भी एक ऐसा इंजीनियरिंग कोर्स है जिसके बारे में बहुत कम लोगों को जानकारी होती है।

 

खेल टेक्नोलॉजी इंजीनियरिंग। (Khel Technology Engineering)

खेल एक ऐसी चीज है जिसमें हर व्यक्ति की रूची होती है चाहे वह क्रिकेट हो या फुटबॉल हो या फिर कोई भी खेल हो, अगर आप किसी कारणवश क्रिकेटर फुटबॉलर इत्यादि नहीं बन पाते तो आपको मायूस होने की जरूरत नहीं है

आप अपने पैशन को बना कर रख सकते हैं इसके लिए आप खेल टेक्नोलॉजी में इंजीनियरिंग कर सकते हैं इसमें लोगों को खेल के बारे में जानकारी दी जाती है खेल में इस्तेमाल होने वाले उपकरण तथा उनका डिजाइन और उनके बनाने का तरीका सिखाया जाता है। आप चाहे तो खेल टेक्नोलॉजी से भी इंजीनियरिंग कर सकते हैं।

 

एथिकल हैकिंग। (ethical hacking)

एथिकल हैकिंग भी एक इंजीनियरिंग कोर्स है जिसके बारे में शायद ही किसी को पता होता है इस कोर्स के अंदर आपको हैकिंग करना सिखाया जाता है जिसको आप legally यूज में ले सकते हैं

आप अपनी कंपनी का डाटा हैक करके उसमें सुधार कर सकते हैं उसने इंप्रूवमेंट कर सकते हैं ताकि कोई और आपके कंपनी का डाटा आसानी से हैक ना कर सके कानूनी तौर पर भी हैकिंग का कोर्स सिखाया जाता है

जिसमें देश की सुरक्षा व्यवस्था के लिए जिम्मेदारी दी जाती है जिससे कोई भी देश का डाटा हैक ना कर पाए जो लोग एथिकल हैकिंग से इंजीनियरिंग करना चाहते हैं तो उनके लिए यह बेस्ट ऑप्शन है

लेकिन ध्यान रहे अगर आपने हैकिंग किसी गलत पर्पस के लिए किया है तो यह कानूनन अपराध होता है इसके लिए आपको कठोर से कठोर सजा भी मिल सकती है इसलिए आप हैकिंग से संबंधित सभी काम कानून के दायरे में रहकर ही करें।

यह थी कुछ और इंजीनियरिंग कोर्स से संबंधित जानकारी अभी इससे अलग भी बहुत सारी इंजीनियरिंग होती है अगर आप चाहे तो उनमें से भी कोई इंजीनियरिंग कर सकते हैं वह कुछ इस प्रकार हैं जैसे-

  1. ध्वनि अभियंता इंजीनियरिंग
  2. हाइड्रॉलिक इंजीनियरिंग
  3. फोटोनिक्स इंजीनियरिंग
  4. जनन विज्ञान अभियांत्रिकी इंजीनियरिंग
  5. कृषि इंजीनियरिंग
  6. उर्जा इंजीनियरिंग

आप चाहे तो इनमें से भी कोई इंजीनियरिंग कर सकते हैं अगर आपका इंटरेस्ट बताई गई इंजीनियरिंग में है।

 

इंजीनियरिंग कॉलेज। (Engineering Colleges list)

अब सवाल यह आता है कि इंजीनियर करने के लिए हमको कॉलेज कहां मिलेंगे कहां से इंजीनियरिंग करें, इंजीनियरिंग करने के लिए आपको आपके शहर में ही बहुत सारे ऐसे कॉलेज मिल जाएंगे जहां पर इंजीनियरिंग कोर्स कराया जाता है

आप प्राइवेट कॉलेज से भी इंजीनियरिंग कर सकते हैं और अगर आप चाहे तो इंजीनियरिंग गोरमेंट कॉलेज से भी कर सकते हैं जिसके लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करना पड़ता है एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करने के बाद आपको आईआईटी IIT कॉलेज में एडमिशन मिल जाता है आईआईटी का मतलब होता है इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी,

आईआईटी इंजीनियरिंग करने के लिए सबसे बेस्ट संस्थान है हम आपको आईआईटी कॉलेज से संबंधित जानकारी देने वाले हैं आईआईटी कॉलेज कहां पर स्थित है जहां से आप गवर्नमेंट से अपनी इंजीनियरिंग कर सकते हैं।

 

इंजीनियरिंग के लिए बेस्ट आईआईटी (IIT) इंस्टिट्यूट।

1. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, इंदौर

2. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, धनबाद

3. दिल्ली टेक्नोलॉजी यूनिवर्सिटी, दिल्ली

4. बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, पिलानी

5. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, गुवाहाटी

6. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, रुड़की

7. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, कानपुर

8. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मुंबई

9. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, खरगपुर

10. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, दिल्ली

 

आप इन कॉलेज से भी अपनी इंजीनियरिंग कर सकते हैं अगर आप किसी कारणवश एंट्रेंस एग्जाम क्लियर नहीं कर पाते तो घबराने की कोई जरूरत नहीं है

आप किसी प्राइवेट कॉलेज से भी अपनी इंजीनियरिंग का कोर्स कंप्लीट कर सकते हैं और एक सफल इंजीनियर बन सकते हैं अगर आप इंजीनियरिंग करने के बाद भी कुछ करने की सोच रहे हैं इसी फील्ड से संबंधित या अन्य कुछ, तो उसके लिए आगे बहुत ऑप्शन है जो कुछ इस प्रकार है।

 

बीटेक इंजीनियरिंग के बाद क्या करें। (What can i do after engineering)

वैसे तो B-tech आजकल बहुत छात्र कर रहे हैं लेकिन बीटेक करके सफल इंजीनियर वही बनता है जिसने पूरी लगन के साथ बीटेक करके इंजीनियरिंग कंप्लीट की हो वरना कुछ छात्र तो केवल डिग्री पाने के लिए ही बिटेक करते हैं

जिसका कोई फायदा नहीं है अगर आप एक सफल इंजीनियर बनना चाहते हैं तो आपको पूरी लगन के साथ यह कोर्स करना होगा अगर आप बीटेक के बाद भी इससे संबंधित कोर्स करना चाहते हैं तो उसके लिए आप एमटेक की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं

 

M-tech की डिग्री।

यह एक मास्टर कोर्स होता है जो बिटेक के बाद किया जाता है‌

बीटेक की फुल फॉर्म होती है- बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी

और एमटेक की फुल फॉर्म होती है- मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी

अतः आप बीटेक के बाद एमटेक कर सकते हैं जो एक मास्टर कोर्स होता है यह Course करके आपको किसी भी कंपनी में नौकरी बड़े आराम से मिल जाती है यह 2 साल का कोर्स होता है आप अपने पसंदीदा विषय के साथ यह कोर्स कर सकते हैं अगर आप चाहे तो यह कोर्स करने के बाद किसी इंस्टिट्यूट में फैकेल्टी के रूप में बीटेक वाले छात्रों को पढ़ा सकते हैं।

 

एमबीए भी कर सकते हैं। (MBA Course)

अगर आपने बीटेक कर ली है और आपको लगता है कि बीटेक करके मुझे कोई फायदा नहीं हुआ या आप अपना कैरियर बदलना चाहते हैं तो उसके लिए MBA (Master of Business administration) वन ऑफ द बेस्ट ऑप्शन होता है एमबीए करके भी आप एक अच्छी कंपनी में अच्छी पोस्ट पर नौकरी कर सकते हैं।

 

सिविल सर्विस के लिए तैयारी। (preparation for Civil Service)

आप बीटेक के बाद अगर Civil Service के लिए तैयारी करना चाहते हैं तो आप वह भी कर सकते हैं ज्यादा लोग ऐसे होते हैं जो बीटेक करने के बाद सिविल सर्विस के बारे में सोचते हैं बीटेक के बाद सिविल सर्विस की तैयारी करना भी एक अच्छा ऑप्शन होता है

IAS, IPS एक बहुत ही बड़ा पद है और जिम्मेदारी से भरा हुआ है जो देश की बहुत सारी जिम्मेदारियां उठाता है अगर आप इन जिम्मेदारियों को संभालने के लिए तैयार हैं तो आप सिविल सर्विस की तैयारी कर सकते हैं।

 

अपना बिजनेस शुरू करें। (Start your own business)

Engineer in Hindi – ज्यादातर लोग ऐसे होते हैं कि वह कोई कोर्स तो कर लेते हैं लेकिन कहीं पर जॉब करना पसंद नहीं करते, वो खुद मालिक (Boss) बनना चाहते हैं तो उसके लिए आप बिटेक के बाद भी खुद का बिजनेस खड़ा कर सकते हैं

जिन लोगों को बिजनेस करने में इंटरेस्ट है वह अपना खुद का स्टार्टअप लगा सकते हैं बीटेक करने के बाद बिजनेस करने का प्लान कोई बुरा नहीं है बीटेक करने के बाद आप अगर चाहे तो अपना कोई बिजनेस भी खड़ा कर सकते हैं।

दोस्तों यह कि कुछ इंजीनियरिंग से संबंधित जानकारी, आज आपने यह जाना कि इंजीनियर क्या होता है, इंजीनियर कैसे बने और इंजीनियर करने के लिए कोर्स कौन सा करेंं, हमारे द्वारा दी गई जानकारी से अगर आप संतुष्ट हैं तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं अगर आपके मन में इंजीनियरिंग से संबंधित कोई सवाल है तो वह भी आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

 

यह भी पढ़ें।

2 thoughts on “इंजीनियर कैसे बने, और इंजीनियरिंग करने के लिए कौन सा कोर्स करें, how to become an engineer”

Leave a Comment