Type Here to Get Search Results !

कपड़े धोने का साबुन बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करे। Detergent soap making business 2022

0

कपड़े धोने के साबुन का business कैसे शुरू करे, डिटर्जेंट पाउडर मेकिंग मशीन (Detergent soap, soap making machine, business plan, detergent powder, raw material, soap business benefits and Investment)

कपड़े धोने का साबुन बनाने का व्यवसाय, detergent soap making business

कपड़े धोने के साबुन बनाने का व्यापार कैसे शुरू करे। मटेरियल, लागत, मार्केटिंग

(How to Start Detergent Soap Making Business)


साफ सफाई के लिए अभी के टाइम में कई अलग तरह के साधन का प्रचलन बढ़ा है. इनमे kuch नयी तो कुछ  चीज़ें पुरानी एक के बाद एक लोग इस्तमाल में लाते रहते हैं. 

अभी मार्किट में कपड़ों के टाइप पर निर्भर करता हुआ कपड़े  wash करने का साबुन (soap) भी आने लगा है. जैसे सूती कपड़ों के लिए अलग साबुन और उन्हीं कपड़ों के लिए अलग साबुन इस्तेमाल में लाया जा रहा है 

अगर यह देखा जाए तो कपड़े बनाने का साबुन एक अच्छा व्यापार हो सकता है। अभी मार्केट के अंदर बहुत से अलग-अलग प्रकार की कंपनियां कप

ड़े धोने के पाउडर साबुन बेच रही है आप चाहे तो आप भी कपड़े बनाने का साबुन बाजार में बेच सकते हैं 

आपको इससे अच्छा खासा मुनाफा मिल जाएगा आपको इस पोस्ट के अंदर साबुन बनाने से लेकर इसकी मार्केटिंग तक का सारा प्रोसेस विस्तार पूर्वक बताया जाएगा साबुन बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें आइए जानते हैं।


साबुन बनाने के लिए रॉ मैटेरियल। 

(Soap making raw material)


साबुन बनाने के लिए रो मटेरियल और उसकी कीमत के बारे में नीचे बताया गया है कृपया ध्यानपूर्वक पढ़ें।


एसिड घोल (Acid Slurry) : (रू 84 प्रति लीटर)

एओएस : (रू45 प्रति किलोग्राम)

सोडियम सिलिकेट : (रू33 प्रति किलोग्राम)

डोलोमाइट पाउडर: (रू3 प्रति किलोग्राम)

सोडा पाउडर : (रू 21 प्रति किलोग्राम)

रंग :(रू 6 प्रति किलोग्राम)

पॉलीमर : (रू58 प्रति किलोग्राम)

परफ्यूम : (रू600 प्रति किलोग्राम)


यह सब मटेरियल कहां से खरीदें आप साबुन बनाने का यह रो मटेरियल ऑनलाइन स्टोर से भी खरीद सकते हैं नीचे ऑनलाइन सामान खरीदने का लिंक दिया गया है।


https://dir.indiamart.com/impcat/dolomite.htm


https://india.alibaba.com/


कपड़े धोने का साबुन बनाने के लिए मशीन 

(Detergent Soap Making Machine)


कपड़े धोने की साबुन को बनाने वाली मशीन को चलाना बहुत ही आसान है इस मशीन के विभिन्न प्रकार होते हैं जो आपको नीचे बताए गए हैं


मिक्सर मशीन : मिक्सर मशीन डोलोमाइट पाउडर,  एसिड घोल सोडा पाउडर , वगैरह को मिक्स करने का कार्य करती है


सोप मेकिंग डाई : यह मशीन साबुन को आकार देने में सक्षम हैं इसकी मदद से साबुन को आकार दिया जाता है


मशीन कहाँ से ख़रीदें : आप इस मशीन को ऑनलाइन जा कर भी खरीद सकते हैं। या अपनी नजदीकी शहर से मशीन ला सकते हैं।


कपड़े धोने के साबुन बनाने के व्यापार में लगने वाली लागत

(Detergent Soap Making Business Cost)


कपड़े धोने की साबुन बनाने के लिए मशीन वगैरह का सेटअप लगाकर कुल खर्चा 200000 से ढाई लाख रुपए का आ जाता है और यह मशीन ऑटोमेटिक होती है और लंबे समय तक चलती रहती है इस तरह से देखा जाए तो यहां पर लगने वाली लागत सुरक्षित ही रहती है अगर आप एक बार यह मशीन ले लेते हैं तो इससे आप लंबे समय तक कपड़े धोने के साबुन बना सकते हैं।


कपड़े धोने का साबुन बनाने का प्रोसेस

(Detergent Soap Making Process)


  • आपको कपड़े धोने का साबुन बनाने के लिए किसी प्रकार की एजुकेशन की जरूरत नहीं पड़ती ना किसी डिग्री की जरूरत पड़ती है और ना ही किसी डिप्लोमा की आवश्यकता होती है आपको जरूरत पड़ती है सिर्फ समझने की एक बार आप कपड़े धोने की साबुन बनाने की प्रक्रिया के बारे में जान लेते हैं तो आप बेहद आसानी से साबुन बनाना शुरू कर सकते हैं आइए जानते हैं कपड़े धोने का साबुन कैसे बनाया जाता है

  • शुरुआत में सबसे पहले आपको मिक्चर मशीन को चालू करना होता है यह मशीन ऊपर की ओर खुली हुई होती है इसमें आप अपनी आवश्यकता के अनुसार रो मटेरियल डाल सकते हैं जैसे डोलोमाइट पाउडर। वैसे देखा जाए तो आमतौर पर इस मशीन में आप 100 किलो डोलोमाइट डाल सकते हैं

  • और फिर आपको इसमें 3 किलो के करीब सोडा पाउडर डालना होता है अतः 100 किलो डोलोमाइट में 3 किलो पाउडर डाला जाता है

  • इसके बाद इनका मिश्रण होते हुए सोडा पाउडर और डोलोमाइट में लगभग 20 किलो एसिड घोल मिलाया जाता है और इसके बाद आपको इसमें 4 किलो एओएस डालना होता है एओएस साबुन में झाग बनाने का कार्य करता है अगर इसमें एओएस ना डालें तो साबुन से झाग नहीं आएंगे

  • इसके बाद इन सभी चीजों को मिक्स होने के लिए छोड़ दिया जाता है इनको मिक्स होने के लिए आधा घंटे का समय देना होता है

  • और इसके बाद इसमें सोडियम सिलीकेट डालने की जरूरत होती है आप इसमें 10 किलो सोडियम सिलीकेट मिला सकते हैं

  • अगर आप चाहते हैं आपके द्वारा बनाए गए मिश्रण रंग अथवा परफ्यूम देना चाहिए तो आप इसमें अपनी पसंद का रंग मिला सकते हैं अगर आप इसको सफेद रंग का बनाना चाहते हैं तो इसमें आपको किसी भी तरह का रंग मिलाने की आवश्यकता नहीं होती

  • इसके बाद आपको इसमें 5 किलो पॉलीमर मिलाना होता है इसने पॉलीमर ने मिलाया जाता है क्योंकि पॉलीमर मिलाने से हाथों में किसी प्रकार की जलन नहीं होती और शरीर को किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंचता।

  • फिर आप इसमें सुगंध प्राप्ति के लिए परफ्यूम डाल सकते हैं आप इसमें कम से कम डेढ़ सौ मिली परफ्यूम डाल सकते हैं इससे आपके साबुन से अच्छी महक आएगी।

  • यह सब मिश्रण करने के बाद आपकी साबुन का रो मटेरियल गुथे हुए आटे की तरह हो जाता है जिसको अब पैकेजिंग के अनुसार आकार देने की आवश्यकता होती है

कपड़े धोने का साबुन का आकार और पैकेजिंग 

(Detergent Soap Packaging)


अगर आप कोई भी साबुन बना रहे हैं तो उसको विशेष आकर देने की आवश्यकता होती है और इसके लिए शॉप मेकिंग ड्राइ मशीन का इस्तेमाल किया जाता है यह एक ऐसे कंटेनर से लगा हुआ होता है जिसमें मिश्रा ने किया हुआ रो मटेरियल डाला जाता है और फिर यह मिश्रण साबुन के आकार में बाहर आ जाता है।

पैकेजिंग करने से पहले इन साबुन की कटिंग होती है और कटिंग करने के बाद साबुन पैकिंग के आकार में आ जाती है इसे आप अपनी आवश्यकता के अनुसार अपने ब्रांड की पैकेजिंग में डाल सकते हैं और बाजार में सप्लाई कर सकते हैं या जिस कंपनी के लिए आप यह काम कर रहे हैं उस कंपनी का पैकेट आप इस्तेमाल कर सकते हैं


साबुन बनाने के व्यापार के लिए लाइसेंस

(Detergent Soap Making Business License)


किसी भी व्यापार को कानून के तहत चलाने के लिए लाइसेंस की जरूरत होती है और आपको भी यह बिजनेस चलाने के लिए लाइसेंस की आवश्यकता होती है आप अपने कार्यस्थान को किसी भी फॉर्म के अंतर्गत रजिस्टर करा सकते हैं और साथ में पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड से भी कंसेंट टू ऑपरेट’ कंसेंट टू ईस्टेब्लिश नामक लाइसेंस प्राप्त करने होते हैं और इसी के साथ आपको साबुन की क्वालिटी कंट्रोल तथा ट्रेडमार्क का रजिस्ट्रेशन भी कराना होता है और इन सभी के बावजूद आपको सरकार के रूल्स के अकॉर्डिंग एमएसएमई धआधार का पंजीकरण भी कराना होता है


कपड़े धोने का साबुन बनाने के बिजनेस के लिए जगह

(Detergent Soap Making Business Required Places)  


अगर आप यह व्यापार शुरू करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको बहुत ज्यादा जगह की जरूरत नहीं होती अगर आपके पास कम से कम डेढ़ सौ से 200 वर्ग फीट का स्थान है तो भी आप बड़े आराम से इस व्यापार की शुरुआत कर सकते हैं आगे चलकर अगर आप बड़े पैमाने पर यह व्यापार करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको अधिक स्थान की जरूरत पड़ेगी।


साबुन बनाने के व्यापार के लिए मार्केटिंग कैसे करे।

(Detergent Soap Making Business Marketing)


यह व्यवसाय करने के लिए इसमें मार्केटिंग किए खास जरूरत होती हैं इसमें आपको सबसे पहले ज्यादा से ज्यादा रिटेलर से संपर्क बनाना होता है और रिटेल के साथ-साथ आपको होलसेल में भी साबुन बेचना होता है यह आपकी मर्जी है। 

जबकि रिटेल में साबुन बेचने पर आपको ज्यादा मुनाफा होता है और साथ ही साथ आप अपने ब्रांड की मार्केटिंग करने के लिए विभिन्न प्रकार के तरीके इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे बिल बुक और होल्डिंग और विजिटिंग कार्ड तथा बैनर बोर्ड वगैरह बनवा कर शहर में लगवा सकते हैं 

और आप चाहे तो अपने ब्रांड का प्रमोशन करने के लिए न्यूज़ पेपर का सहारा ले सकते हैं आप न्यूज़पेपर में अपने बिजनेस के बारे में लोगों को बता सकते हैं और साथ ही साथ अगर आप ऑनलाइन प्रचार करना चाहते हैं 

तो यह भी है बहुत बेस्ट ऑप्शन होता है ज्यादा मुनाफा करने के लिए आप ऑनलाइन भी अपने बिजनेस को प्रमोट कर सकते हैं आप किसी बड़ी वेबसाइट या बड़े प्लेटफार्म की मदद से अपने बिजनेस का प्रमोशन कर सकते हैं इससे आपको अधिक लाभ होगा।

यह भी पढ़े।

Post a Comment

0 Comments